हैल्दी और फिट रहने के लिए पर्याप्त मात्रा में फाइबर की जरूरत है। कम समय में फाइबर और पोषक तत्वों की पूर्ति के लिए रेड राइस बेहतरीन विकल्प है। ब्राउन, ब्लैक के बाद रेड राइस लोगों का पसंदीदा फूड बनता जा रहा है। विशेष रूप से यह उन लोगों के लिए फायदेमंद है, जो जिमिंग करते हैं। इनमें कैलोरी की मात्रा ज्यादा होती है। जबकि व्हाइट राइस में इसकी बाहरी परत हटाने से कई विटामिंस व मिनरल्स भी निकल जाते हैं। इसलिए रेड राइस की तुलना में इनमें पोषक तत्व कम मात्रा में होते हैं। व्हाइट राइस में फाइबर भी कम मात्रा में पाया जाता है। व्हाइट की तुलना में ब्राउन राइस मैग्नीशियम, आयरन, जिंक का बेहतरीन सोर्स है। 100 ग्राम ब्राउन राइस में 3.1 ग्राम, 100 ग्राम व्हाइट राइस में 1 ग्राम फाइबर होता है। 100 ग्राम रेड राइस में 6.2 ग्राम फाइबर पाया जाता है।
व्हाइट राइस से पेट भी जल्दी भरता है। भूख भी जल्दी महसूस होती है। ब्राउन राइस खाने से इसकी तुलना में दो से तीन घंटे बाद भूख लगती है। जबकि रेड राइस में कैलोरी ज्यादा होने की वजह से इन दोनों की तुलना में देरी से भूख महसूस होती है। रेड राइस में एक विशेष तरह का कंपाउंड मौजूद होता है। यह कंपाउंड एंटी-ऑक्सीडेंट होने के साथ-साथ कलर देने वाला होता है। जो विशेष रूप से ब्लू बेरीज, रेड व पर्पल कलर के फू्रट्स में मौजूद होता है।

By Admin