Menu Close

“राजस्थली पब्लिक फ्रैण्डली व हस्तशिल्प के प्रमुख केन्द्र के रूप में विकसित”

जयपुर। राज्य सरकार द्वारा राजस्थली को पब्लिक फैण्डली बनाने के साथ ही प्रदेश के हस्तशिल्प का प्रमुख केन्द्र बनाया गया है। उद्योग विभाग के आयुक्त एवं राजसिको के प्रबंध संचालक मुक्तानन्द अग्रवाल ने बताया कि देशी-विदेशी सैलानियों के साथ ही प्रदेशवासियों खासतार से जयपुर वासियों की राजस्थली तक सहज पहुंच बनाने के लिए जहां अधिक और बेहतर उत्पादों के प्रदर्शन की व्यवस्था की गई हैं वहीं 31 जनवरी तक राजस्थली पर उपलब्ध उत्पादों पर 20 प्रतिशत की छूट दी गई है।
अग्रवाल ने राजस्थली को नई दिशा देने के संबंध में अधिकारियों के साथ बैठक की। उन्होंने कहा कि राजस्थली को प्रदेश के हस्तशिल्प उपलब्ध होने की प्रतिनिधि संस्था के रूप में विकसित करने की दिशा में कदम बढ़ाए गए हैं। उन्होंने बताया कि राजस्थली में प्रदेश के हस्तशिल्पियों, दस्तकारों, बुनकरों आदि के उत्पादों को आकर्षक और प्रभावी तरीके से प्रस्तुत किया जा रहा है। आने वाले समय मेें राजस्थली देशी-विदेशी पर्यटकों और जयपुरवासियों की पहली पसंद होगी।
आयुक्त ने बताया कि हस्तशिल्प प्रेमियों, जयपुर में आने वाले पर्यटकों और जयपुरवासियों को उचित मूल्य पर हस्तशिल्प उत्पाद उपलब्ध कराने का निर्णय लिया गया है। उन्होंने बताया कि महात्मा गांधी की 150 वीं जयंती वर्ष और नए साल के अवसर पर राजस्थली पर उपलब्ध सभी उत्पादाें पर बीस प्रतिशत छूट का प्रावधान भी किया गया है।
अग्रवाल ने बताया कि राजस्थली को हस्तशिल्पियों की पहचान स्थल बनाने के प्रयासों से राजस्थली के नए लुक से देशी विदेशी पर्यटकोें का रुझान और अधिक बढ़ेगा और हस्तशिल्पि व बुनकर बिचौलियों के शोषण से बच सकेंगे। बैठक में सबंधित अधिकारी मौजूद थे।

Leave a Reply

%d bloggers like this: