Menu Close

उद्योग विभाग में उल्लेखनीय सेवाओं के लिए 8 कार्मिकों सहित 12 सम्मानित

जयपुर। उद्योग आयुक्त मुक्तानन्द अग्रवाल ने कहा है कि सहकारी आधार पर सदस्यों की वित्तीय जरूरतों को पूरा करने में कर्मचारी सहकारी साख समितियां उल्लेखनीय भूमिका निभा सकती है। उन्होंने कहा कि समिति सदस्यों के लिए उल्लेखनीय सेवाओं, उपलब्धियों व अन्य नवाचारों का संचालन कर सीधे सदस्याें से जुड़ाव बना पाती है।
अग्रवाल मंगलवार को यहां उद्योग विभाग कर्मचारी सहकारी समिति की वार्षिक साधारण सभा और पुरस्कार वितरण समारोह को संबोधित कर रहे थे। उन्होंने समिति के सदस्याें को 12 फीसदी लाभांश देने की घोषणा करते हुए सम्मानितों को बधाई दी। उन्होने कहा कि 1964 से लगातार किसी समिति का लाभ में चलना अपने आप में उपलब्धि है। समिति के कार्यकारी अध्यक्ष एसएस शाह ने बताया कि समिति सदस्यों को चंद मिनटों में 6 लाख रुपये तक का ऋण उपलब्ध कराती है। समिति के उपाध्यक्ष दीपेश जैन और सचिव डिल्लन सिंह ने बताया कि आलोच्य वर्ष में समिति का वार्षिक कारोबार 2 करोड़ 27 लाख रु. और समग्र लाभ 10 लाख 89 हजार रु. है।
आयुक्त मुक्तानन्द अग्रवाल ने इस अवसर पर उल्लेखनीय सेवाओं के लिए संयुक्त निदेशक अरुणा शर्मा, जिला उद्योग अधिकारी राजेश सक्सेना, निजी सहायक राजकुमार, आशुलिपिक दिनेश कुमार चौरसिया, अति. प्रशासनिक अधिकारी राहुल सिंह चौहान, सहायक प्रशासनिक अधिकारी पन्नू सिंह भाटी, सहायक कर्मचारी विजय टेलर व जमादार देवी सहाय मौर्य को पुरस्कृत किया।
 आयुक्त अग्रवाल ने इस अवसर पर समिति की ओर से सदस्यों के परिजनों में आरके सेठिया के पुत्र अभिेषेक सेठिया को आई चिकित्सक बनने और दीपेश जैन के पुत्र प्रासुंक जैन, हरिमोहन शर्मा के पुत्र प्रांशु शर्मा और मंजुल लोहानी के पुत्र कमलेश लोहानी का उत्कृृष्ठ परीक्षा परिणाम प्राप्त करने के लिए पुरस्कृत किया। इस अवसर पर विभाग के पूर्व अधिकारी रवि गुप्ता और भगवान सहाय वर्मा को सम्मानित किया गया। विभाग के गठन के समय के कार्मिक 91 वर्षीय कैलाश नाथ पाण्डेय का भी अभिनन्दन किया गया। समिति द्वारा गठित सार्थक कोष से भीलवाडा़ में सहायक कर्मचारी रुपेन्द्र सोनी को हृदय के 3 वाल्व खराब होने के कारण ईलाज सहायता के रूप में 25 हजार रुपये दिए गए। सचिव डिल्लन सिंह ने स्वागत किया व उपाध्यक्ष दीपेश जैन ने आभार व्यक्त किया।

Leave a Reply

%d bloggers like this: