सिटी रिपोर्टर . जयपुर। जेजेटी विश्वविद्यालय, झुंझुनू ने 2019-20 की कक्षाओं के लिए नौवां वार्षिक दीक्षांत समारोह आयोजित किया। इस दीक्षांत समारोह में कुल 628 विद्यार्थियों को उनकी प्रतिष्ठित उपाधियों से सम्मानित किया गया। मुख्य अतिथि कैलाशचंद्र तिवारी ने समारोह को संबोधित करते हुए जेजेटी विश्वविद्यालय को राजस्थान के सबसे बड़े और सबसे जीवंत ग्रामीण शिक्षा केंद्रों में से एक बनाने की दिशा में किए जा रहे संस्थान के प्रयासों की सराहना की। उन्होंने अपनी एक विशिष्ट पहचान बनाने के लिए भी संस्थान की सराहना की। अपने उद्बोधन में उन्होंने राजस्थान प्रदेश के विकास के लिए अपने विचारों और दृष्टिकोण को भी साझा किया। दूरदर्शी शोधकर्ता कैलाशचंद्र तिवारी ने इंटरनेशनल ट्रांसपोर्ट सिस्टम, एचएसई और रोड सेफ्टी, ट्रैफिक मैनेजमेंट, ईवी स्पेशलिस्ट के क्षेत्र में लगभग 15 देशों में 40 से अधिक वर्षों तक काम किया है।

विद्यार्थियों को संबोधित करते हुए जेजेटी विश्वविद्यालय के चेयरपर्सन डॉ. विनोद टिबरेवाला ने कहा, “ग्रेजुएशन करने वाले सभी विद्यार्थियों को मेरी यही सलाह है कि वे अपने जीवन में दीर्घकालिक और दूरदर्शी लक्ष्य निर्धारित करें और उन्हें हासिल करने के लिए कड़ी मेहनत करें। साथ ही, इस प्रतिष्ठित विश्वविद्यालय के विद्यार्थी के रूप में यह हमारा दायित्व है कि हम समाज में परिवर्तन लाने की जिम्मेदारी उठाएं और इस विश्वविद्यालय से हासिल ज्ञान का उपयोग इस परिवर्तन को साकार करने की दिशा में करें। सभी विद्यार्थियों से मेरा यही आग्रह है कि वे अपने प्रिय राष्ट्र के लिए बेहतरीन कार्य करने का प्रयास करें।”

जेजेटी विश्वविद्यालय के प्रो-चेयरपर्सन डॉ (ब्रिगेडियर) सुरजीतसिंह पाब्ला ने अपने उद्बोधन में भारतीय सेना में अपने सेवाकाल के समृद्ध अनुभवों को साझा किया। उन्होंने कहा, ‘‘संस्थान विद्यार्थियों को अनुभवात्मक शिक्षा प्रदान करने की दिशा में कड़ी मेहनत कर रहा है। आज पूरी दुनिया चुनौतियों का सामना कर रही है, पर हमें यह नहीं भूलना चाहिए कि जहां चुनौतियां हैं, वहां हमेशा अवसर हैं। आप सभी को नई तकनीकों के बारे में सीखना चाहिए और विश्वविद्यालय में संसाधनों का सर्वोत्तम उपयोग करना चाहिए।‘‘ उन्होंने सभी विद्यार्थियों को बधाई दी और उनके उज्जवल भविष्य की कामना की।

दीक्षांत समारोह में डायरेक्टर बालकिशन टिबरेवाला, अध्यक्ष डॉ. मंथा, प्रो-प्रेसिडेंट डॉ. जवाहर जांगिड़, रजिस्ट्रार डॉ. मधु गुप्ता और डीन डॉ. अंजू सिंह ने पुष्पगुच्छ, शॉल और कामधेनु की प्रतिमा के साथ मुख्य अतिथि का स्वागत किया। इस अवसर पर उन्हें जेजेटी विश्वविद्यालय के चेयरपर्सन डॉ. विनोद टिबरेवाला की पुस्तक ‘हाऊ टू मेक न्यू इंडिया‘ की प्रति भी भेंट की गई। डायरेक्टर बालकिशन टिबरेवाला ने विद्यार्थियों के बेहतर भविष्य की कामना की। प्रो-प्रेसिडेंट डॉ. (कमोडोर) जवाहर जांगिड़ ने धन्यवाद ज्ञापित किया। कार्यक्रम का संचालन अरुण पांडे ने किया।

By Admin

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *