Menu Close

कोरोना संकट में गरीबों की मदद के लिए आगे आएं समर्थवान लोग व स्वयंसेवी संस्थाएं : राज्यपाल

– कोरोना से बचाव के प्रयासों के लिए राज्यपाल ने दिया एक माह का वेतन –

जयपुर। राज्यपाल कलराज मिश्र ने प्रदेश में कोरोना वायरस से बचाव के प्रयासों के लिए अपना एक माह का वेतन दिया है। राज्यपाल ने राज्यपाल राहत कोष से भी बीस लाख रुपये की राशि राज्य सरकार के राजस्थान मुख्यमंत्री सहायता कोष के कोविड-19 के फण्ड में भेजी है। राज्यपाल मिश्र की इस पहल पर राजभवन के अधिकारियों और कर्मचारियों ने भी अपना एक दिन का वेतन कोरोना वायरस से बचाव के लिए देने का निर्णय लिया है। राज्यपाल ने सोमवार को प्रात: मुख्यमंत्री अशोक गहलोत से दूरभाष पर वार्ता की। राज्यापाल ने मुख्यमंत्री से प्रदेश के हालात की जानकारी ली। राज्यपाल ने मुख्यमंत्री गहलोत को बताया कि उन्होंने अपना एक माह का वेतन राज्य सरकार के कोविड-19 कोष में देने का निर्णय लिया है। इसी के साथ राज्यपाल राहत कोष से भी बीस लाख रुपये की राशि का चैक राज्य सरकार को भेजा जा रहा है। राज्यपाल मिश्र का एक माह का वेतन 3.50 लाख रुपये है। राजभवन के अधिकारियों व कर्मचारियों का एक दिन का वेतन 2.25 लाख रुपये है। राज्यपाल राहत कोष से 20 लाख रुपये दिए गए हैं। राज्यपाल मिश्र ने बताया कि कुल मिलाकर 25 लाख 75 हजार रुपये की राशि राजस्थान राज्य सरकार के राजस्थान मुख्यमंत्री सहायता कोष के कोविड-19 फण्ड में भेजा जा रहा है। राज्यपाल ने प्रदेश की स्वयंसेवी संस्थाओं और समर्थवान लोगों का आह्वान किया है कि वे प्रदेश के गरीब व असहाय लोगों की मदद के लिए आगे आएं। इस संकट की घड़ी में हर जरूरतमन्द की मदद का प्रयास करें। राज्य में कोरोना वायरस से बचाव के लिए किसी भी प्रकार की दवाई, भोजन और अन्य उपायोंं में कमी नहीं आनी चाहिए। राज्यपाल ने प्रदेशवासियों से अपील की है कि इस पुनीत कार्य में सहयोग के लिए आगे आएं। राज्यपाल ने बताया कि जो भी व्यक्ति इस कार्य में आर्थिक सहयोग देना चाहते हैं, वे राज्यपाल राहत कोष के नाम से चैक अथवा ड्राफ्ट के द्वारा योगदान दे सकते हैं। राज्यपाल ने केन्द्र व राज्य सरकार की कोरोना से लडऩे की रणनीति में प्रदेशवासियों से सहयोग करने की अपील की है।

Leave a Reply

%d bloggers like this: