नीदरलैंड्स। साझा संसार व नारंगी नीदरलैंड्स की टीम ने टैगोर  अन्तर्राष्ट्रीय साहित्य व कला महोत्सव  ‘विश्वरंग’  में भाग लिया।  यह आयोजन  गांधी केन्द्र द हेग नीदरलैंड्स के निदेशक शिव मोहन सिंह की अध्यक्षता में सम्पन्न हुआ। विश्वरंग नीदरलैंड्स की शुरुआत बाल साहित्य : एक झलक से हुई। इस आयोजन के स्वागत वक्तव्य में नीदरलैंड्स कन्ट्री निदेशक रामा तक्षक ने कहा कि अभिभावक बच्चों को  अच्छा भोजन और अच्छे कपड़े दे सकते हैं। किन्तु माता पिता अपने बच्चों को अपने विचार नहीं दे सकते। बालक के अपने विचार होते हैं। बच्चे अपना मन और अपने मन का धरातल लेकर जन्म लेते हैं। बच्चों के मन में, मानव जीवन की सम्भावनाओं के प्रति जिज्ञासा जगाना साहित्यकार के लिए चुनौतीपूर्ण है।

बाल साहित्य आयोजन की प्रस्तुति में शिवान्तिका श्रीवास्तव, आलोक पांडेय, रवि श्रीवास्तव, अशोक जी, हर्षिता बाजपाई, आस्था दीक्षित और डॉ मानसी मोहरिल ने भाग लिया। दूसरे चरण में साँस्कृतिक आयोजन की शुरुआत सौम्या शुक्ला जी ने कत्थक नृत्य की प्रस्तुति से की। वे वर्तमान में द गांधी सेंटर, द हेग, नीदरलैंड में कथक शिक्षक हैं। इसके बाद एंजेला अरुणा ने एक भावपूर्ण सरनामी गीत पेश किया। इसके बाद मेघा शेखावत ने आनंद नर्तन गणपतिम नृत्य प्रस्तुति दी।

श्यामा वारियर जिन्होंने नीदरलैंड में नटनम नृत्य और कला अकादमी की स्थापना की, उनकी मनभावन प्रस्तुति ने दर्शकों का मन मोह लिया। तत्पश्चात श्रद्धा शिवरतन के नृत्य-विद्यालय ‘नाट्य सुधा’ की नर्तकियों द्वारा गणेश कौवथुवम प्रस्तुत किया गया। इस सत्र के अंत में मंच का संचालन करते हुए विश्वास दुबे ने  स्वरचित  नीदरलैंड्स को  समर्पित एक मधुर गीत गाया।

तीसरे सत्र में डॉ मानसी सागदेव,  जयिता दत्ता, संतोष कुमार, मनीष पाण्डेय, प्रियंका सिंह,  सुशांत जैन तथा इन्द्रेश कुमार ने अपने-अपने शहर की विशेषताओं पर श्रोताओं से सचित्र जानकारी साझा की। इस अवसर पर सरनामी हाउस से अमर सुखलाल ने ‘आई क्राइड इन माई बेड’ मार्मिक संस्मरण साझा किया। शिवाँगी शुक्ला ने इस सत्र का संचालन किया।

By Admin